• No products in the cart.

Design

हिन्दी व्याकरण

मनुष्य मौखिक एवं लिखित भाषा में अपने विचार प्रकट कर सकता है और करता रहा है किन्तु इससे भाषा का कोई निश्चित एवं शुद्ध स्वरूप स्थिर नहीं हो सकता। भाषा के शुद्ध और स्थायी रूप को निश्चित करने के लिए नियमबद्ध योजना की आवश्यकता होती है और उस नियमबद्ध योजना को हम व्याकरण कहते हैं।

हिंदी वर्ण, वर्ण उच्चारण स्थान, शब्द

हिंदी के लिए प्रयुक्त देवनागरी लिपि में कुल 52 वर्ण हैं, जिनमें 11 मूल स्वर वर्ण (जिनमें से 'ऋ' का उच्चारण अब स्वर जैसा नहीं होता), 33 मूल व्यंजन, 2 उत्क्षिप्त व्यंजन, 2 अयोगवाह और 4 संयुक्ताक्षर व्यंजन हैं।

Software training reloaded

This is the Software training course. Learn more about softwares.

Data mining

It is a long established fact that a reader will be distracted by the readable content of a page when looking at its layout.

Design Dynamics

Lorem ipsum dolor sit amet, consectetur adipiscing elit. Integer quis mollis risus. Praesent eu arcu pretium, dignissim massa eget, posuere orci.

Understanding Color Psychology

This is some short description of the course.
GyanTemple.com © Dharshi Technologies Pvt. Ltd.. All rights reserved.